Login Sign Up Welcome
Guest


Home
About Writers
Contest
About Us
शेर-ओ-शायरी

Saying a lot in few words....
(गागर में सागर)



औकात (Likes 2)





रूह को ताकीद (Likes 1)





बस यूँ ही (Likes 0)





तू हवा सा, मैं घटा सी, (Likes 0)





दिल का टुकड़ा (Likes 0)





ख्वाब (Likes 0)





दुनिया में वही बातें चार (Likes 0)





शहर (Likes 0)





खिड़कियाँ (Likes 0)





दिवाली का उजाला (Likes 0)





तहज़ीब (Likes 0)





प्यार के उजाले (Likes 0)





तुम बसंत बन आ जाओ (Likes 0)





कहानी जिंदगी की (Likes 0)





कविता (Likes 0)





गुप्ता जी के अल्फाज (Likes 0)





मेरे एहसासो के अल्फाज (Likes 0)





KissaKriti