Login Sign Up Welcome
Guest




परिवर्तन ******
November 14, 2016 | Alok Pandey






Link for Book




परिवर्तन गर चाहो तो अब इक क्रांति लानी होगी
आज कहानी बुंदेलों की फिर से सुनानी होगी ||
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
धृतराष्ट्र-गांधारी बनकर यूँ न चलने वाला है
रानी झांसी बनकर अब तलवार उठानी होगी||
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
कत्ल कर रहे ईमानी का बेमानी के खातिर
ऐसे बेमानों की अब तो लाश उठानी होगी||
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
बहू-बेटियों की इज़्ज़त पर जो भी 'कचरा' डालेगा
'मर्दाना' ताक़त को उसकी औक़ात दिखानी होगी||
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
उठो बेटियो! तुम बन सकती हो दुर्गा,चण्डी और भवानी
वही कहानी हरबोलों की फिर तुम्हें सुनानी होगी||
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
डॉ.राजीव जोशी
बागेश्वर।

KissaKriti | परिवर्तन ******
Likes (1) Comments (0)