Login Sign Up Welcome
Guest




ख्वाब
March 24, 2016 | Yojna Jain






Link for Book



ख़्वाब हौसलों से मुकम्मल होते हैं,
और हौसले डर को जीत कर ज़िंदा.
ज़िंदगी का ये फ़लसफ़ा जो समझ गया,
उसने समझो सारे ख़्वाब जी लिए.

Likes (3) Comments (2)

Alok Pandey
Well said.

Sachin Om Gupta
बहुत खूब...


KissaKriti | ख्वाब