Login Sign Up Welcome
Guest




बेरोजगार व्यथा
August 2, 2017 | Om Fulara






Link for Book



अहा! कतुक भाल् हैरी हमार ठाट बाट
फटी चद्दर टुटी खाट
अहा! कतुक भाल हैरी हमार ठाट बाट
रत्त बटी ब्याव तक
दफ्तरोंक चक्कर लगाण मजि
आपुण ठाट बाट भुलि जानू
ब्याव हैं सितण बखत
फिर नजर ऐंछ
वी फटी चद्दर और टुटी खाट
अहा! कतुक भाल हैरी हमार ठाट बाट
इज बौज्यूल खै निखैबेर स्कूल लगाय
पढ़े लिखे बेर ग्रैजुएट बनाय
कतुक स्वैंण उनूल देख
कतुक हमुकैं दिखाय
हमार भाल् दिनांक आस मैं उँ बुड़ी गाय
हमर नसीब मैं आज लै
वी फटी चद्दर और टुटी खाट
अहा! कतुक भाल् हैरी हमार ठाट बाट
बेरोजगारी दौर में महंगाई मार खाते खाते
मौटै बेर लाल है गाय
हमर य सेहतक राज क्वे नि समझ पाय
कैकें नजर नि आई
हमर फटी चद्दर और टुटी खाट
अहा! कतुक भाल हैरी हमार ठाट बाट



KissaKriti | बेरोजगार व्यथा
Likes (0) Comments (0)