Login Sign Up Welcome
Guest




बस यूँ ही
April 22, 2017 | Yojna Jain






Link for Book



बस बरबस बहुत कुछ
बेबाक यूँ ही हो गया
बात कुछ भी ना थी,
कोई आह अश्क पे कत्ले-आम
यूँ ही हो गया
बातों बातों में बात निकली
और बारहां खो गया!!!

KissaKriti | बस यूँ ही
Likes (0) Comments (0)